अब चंदा मामा नहीं दूर के, चंद्रयान-3 की सफल लैंडिंग, भारत ने रचा नया इतिहास

Spread the love

चंद्रयान-3: भारत का चांद पर सफल प्रक्षेपण, नया इतिहास रचा

नई दिल्ली, 23 अगस्त 2023: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने आज चंद्रयान-3 मिशन के सफल प्रक्षेपण के साथ चंद्रविजय करके देश के वैज्ञानिकों को समृद्धि की नई दिशा में कदम बढ़ाने का अवसर प्रदान किया है। यह मिशन द्वारा चांद की सतह पर सफल लैंडिंग की गई है, जिससे भारत दुनिया के उच्च गर्वशील देशों में शामिल हो गया है।

चंद्रयान-3 की इस अद्वितीय प्रक्षेपण के पीछे विज्ञान की अद्वितीयता और कठिनाईयों के सामना करने की क्षमता का प्रतीक माना जा रहा है। मिशन के सफल प्रक्षेपण के बाद, चंद्रयान-3 ने कुशलतापूर्वक चंद्र की सतह पर अपनी पड़ाव को स्थापित किया है, जिससे देश ने वैज्ञानिक अनुसंधान में एक नया युग आरंभ किया है।

ISRO के अध्यक्ष डॉ. विक्रम सिंघ ने इस महत्वपूर्ण पहल को “विज्ञान में एक महत्वपूर्ण कदम” के रूप में बताया है और इस सफलता को समर्थन देने वाले देशवासियों को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा, “चंद्रयान-3 का सफल प्रक्षेपण एक ऐतिहासिक पल है जो हमारे वैज्ञानिकों की मेहनत और संघर्ष का परिणाम है। यह मिशन न केवल वैज्ञानिक अनुसंधान में बल्कि हमारे राष्ट्र के गर्व में भी एक महत्वपूर्ण कदम है।”

चंद्रयान-3 के सफल प्रक्षेपण के साथ, भारतीय अंतरिक्ष मिशनों ने वैज्ञानिक और तकनीकी क्षमता में एक बार फिर से दुनिया को अपनी प्रबलता दिखाई है। यह मिशन न केवल चंद्रविजय की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है, बल्कि यह आगे बढ़ने के लिए नए द्वार खोलता है और भारत को ग्लोबल अंतरिक्ष समुदाय में एक प्रमुख खिलाड़ी बनाता है।

इस महत्वपूर्ण क्षण पर, प्रधानमंत्री ने भारतीय वैज्ञानिकों की मेहनत की सराहना की और उनके योगदान की प्रशंसा की। उन्होंने इस सफलता को “नये भारत की उपलब्धि” के रूप में वर्णित किया और देशवासियों से इस उपलब्धि को हर्षोल्लास से स्वागत करने की अपील की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *